नमस्कार हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 9695646163 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें.
September 30, 2022

Raftaar India news

No.1 news portal of India

गोरखनाथ मंदिर हमले के बाद SSP का बड़ा एक्‍शन-क्राइम ब्रांच की SOG और स्‍वॉट टीम को किया भंग-

1 min read

रफ्तार इंडिया न्यूज़,गोरखपुर ब्युरो-
रिपोर्ट-गोरखपुर-

गोरखनाथ मंदिर हमले के बाद SSP का बड़ा एक्‍शन-क्राइम ब्रांच की SOG और स्‍वॉट टीम को किया भंग-
गोरखनाथ मंदिर में पीएसी जवानों पर हमले के बाद गोरखपुर के एसएसपी विपिन ताडा का बड़ा एक्‍शन सामने आया है। एसएसपी ने क्राइम ब्रांच की एसओजी और स्‍वॉट टीम को भंग कर दिया है। इनमें 15 पुलिसवाले तैनात थे-
Last Modified:Thu 7 Apr 2022 05:00 pM

गोरखपुर के एसएसपी डॉ.विपिन ताडा ने क्राइम ब्रांच की एसओजी और स्वॉट की पूरी टीम को भंग कर दिया है। टीम में शामिल पुलिसकर्मियों को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर करते हुए उन्हें पुलिस लाइन में आमद कराने के निर्देश दिए हैं।

इससे एक साल पूर्व भी एसओजी को भंग कर दिया था। उस समय एसओजी टीम पर पशु तस्करों की मुखबिरी करने का आरोप लगा था। वर्तमान में हुई कार्रवाई लापरवाही से जोड़कर देखी जा रही है। एसओजी में शामिल इंस्पेक्टर प्रदीप शर्मा पिछले दिनों तस्कर को पकड़ने के दौरान घायल हुए थे। यह प्रकरण चल रहा था कि उसके बाद गोरखनाथ मंदिर के सुरक्षाकर्मियों पर हमले की भी खबर आ गई थी। माना जा रहा है कि कहीं न कहीं इन घटनाओं में एसओजी की सक्रियता में कमी मिली है। शनिवार की शाम को देवरिया के 25 हजार के इनामी पशु तस्कर को पकड़ने गई एसओजी के इंस्पेक्टर प्रदीप शर्मा के घायल हो गए थे। इस घटना के बाद ही एसओजी टीम की ओर से लापरवाही बरतने का आरोप है। इस घटना से चार दिन पूर्व गोरखपुर यूनिवर्सिटी कैंटीन व हास्टल में फायरिंग की घटना में भी एसओजी की लापरवाही सामने आई थी।

इसके अलावा कई विवेचनाएं भी पेंडिंग हैं। इस सबके बाद एसएसपी ने दोनों टीमों को भंग करने का निर्देश जारी किया है। हालांकि,पुलिस के उच्चाधिकारी खुलकर नहीं बोल रहे हैं। एसएसपी ने बताया कि एसओजी व स्वॉट टीम को भंग किया गया है। पुलिसकर्मियों को लाइन में आमद कराने को कहा गया है।

एसओजी-स्वॉट में तैनात थे 15 पुलिसकर्मी-

एसओजी-स्वॉट मिलाकर 15 पुलिसकर्मी तैनात थे। नौ पुलिसकर्मी मुख्य एसओजी में तो वहीं पांच पुलिसकर्मी तस्करों को पकड़ने के लिए बनाई गई एसओजी में तैनात किया गया है। माना जा रहा है कि नए सिरे पर अब इसका गठन किया जाएगा।-
रफ्तार इंडिया न्यूज़-गोरखपुर-

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright ©2021 All rights reserved | For Website Designing and Development call Us:+91 8920664806