नमस्कार हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 9695646163 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें.

Raftaar India news

No.1 news portal of India

जंगल कौड़िया में सीएम योगी ने किया आरोग्य मेले का शुभारम्भ–

1 min read

रफ़्तार इंडिया न्यूज़-जंगल कौड़िया गोरखपुर-
प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र जंगल कौड़िया से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया मुख्यमंत्री आरोग्य मेला का शुभारम्भ-

प्रदेश के 403 विधानसभा क्षेत्रों में 100 बेड के सभी संसाधनों से युक्त उच्चीकृत अस्पताल बनाए जाएंगे-मुख्यमंत्री योगी-


गोरखपुर-प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जंगल कौड़िया ब्लाक के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर मुख्यमंत्री आरोग्य मेला का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर उन्होंने वहां पर स्वास्थ्य विभाग के स्टालों का अवलोकन एवं बाल विकास पुष्टाहार विभाग के स्टाल पर बच्चों का अनप्रासन भी कराया। इसके अतिरिक्त उन्होंने आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी को गोल्डेन कार्ड,प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के लाभार्थी को चेक,फलेरिया एवं टीबी के रोगियो को कीट आदि का भी वितरण किया।

इस अवसर पर उन्होंने लोेगो को सम्बोधित करते हुये कहा कि हर एक व्यक्ति को उत्तम स्वास्थ्य देना सरकार का कर्तव्य,और हम इस दिशा में हर संभव प्रयास कर रहे हैं। उत्तम आरोग्यता से ही स्वस्थ समाज का निर्माण होगा और स्वस्थ समाज के होने पर ही हम सशक्त उत्तर प्रदेश और सशक्त भारत के निर्माण में अपना योगदान दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि आज से प्रारम्भ हो रहा मुख्यमंत्री आरोग्य मेला हर रविवार को प्रदेश के सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर लगेगा।

आरोग्य मेला में लोगों को निशुल्क चिकित्सकीय परामर्श,निशुल्क जांच व मुफ्त दवाओं के माध्यम से आरोग्यता का उपहार मिलेगा।आरोग्य मेला 2020 में ही शुरू किया गया था लेकिन कोरोना संक्रमण के कारण इसे स्थगित करना पड़ा था। एक बार फिर इसका शुभारंभ हो रहा है। इसका उद्देश्य सभी लोगों को बिना भेदभाव चिकित्सा सेवा का लाभ पहुंचाना है। मेले में सरकार की स्वास्थ्य योजनाओं का प्रचार प्रसार किया जाएगा और लोगों में स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता बढ़ाई जाएगी। उन्होंने कहा कि जिन लोगों के स्वास्थ्य कार्ड बनने से रह गए हैं,वे बनवाकर इसका लाभ उठाएं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश को स्वास्थ्य सुविधाओं और बेहतर बनाने के लिये उत्तर प्रदेश के सभी 403 विधानसभा क्षेत्रों में 100 बेड के सभी संसाधनों से युक्त उच्चीकृत अस्पताल बनाए जाएंगे इसके साथ ही राज्य के प्रत्येक विकास खंड क्षेत्र में 25 से 30 बेड के बेहतरीन सीएचसी-पीएचसी उपलब्ध कराने की दिशा में कार्यवाही को तेजी से आगे बढ़ाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने की दिशा में सरकार तेजी से आगे बढ़ी है कभी पूर्वी उत्तर प्रदेश में इलाज का एकमात्र केंद्र गोरखपुर का बीआरडी मेडिकल कॉलेज ही था। वह भी कब बंद हो जाए कुछ कहा नहीं जा सकता था। वहां न डॉक्टर पर्याप्त थे और न ही दवाएं। आज बीआरडी मेडिकल कॉलेज बहुत अच्छे ढंग से स्वास्थ्य सेवाएं दे रहा है। पूर्वी उत्तर प्रदेश के लोगों की चिकित्सा की सुविधा के लिए गोरखपुर में एम्स भी खुल गया है साथ ही साथ देवरिया,सिद्धार्थनगर व बस्ती में नए मेडिकल कॉलेज सेवाएं दे रहे हैं। कुशीनगर में मेडिकल कॉलेज का निर्माण चल रहा है और महाराजगंज में मेडिकल कॉलेज बनाने की स्वीकृति दी जा चुकी है।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि संचारी रोगों की रोकथाम पर अंतर्विभागीय समन्वय व सामूहिकता की ताकत का उल्लेख करते हुए कहा कि इसी ताकत के दम पर उत्तर प्रदेश प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में कोरोना नियंत्रण का बेहतरीन मॉडल देने में सफल रहा है। यही नहीं,अंतर्विभागीय समन्वय व टीम वर्क के बल पर 1977 से लेकर 2017 तक पूर्वी उत्तर प्रदेश में 5 हजार मासूमों को असमय काल कवलित करने वाली इंसेफलाइटिस पर नकेल कस दिया है। उन्होंने कहा कि 40 वर्ष मे इंसेफलाइटिस को समाप्त नहीं किया जा सका था,इसके इलाज के लिए संसाधन तक नहीं थे। केंद्र व प्रदेश सरकार ने मिलकर सिर्फ 4 साल में इंसेफलाइटिस को समूल उखाड़ने में सफलता हासिल की है। मस्तिष्क ज्वर अब नाममात्र का है। थोड़ी सी सतर्कता और सामूहिक प्रयास से अगले एक-दो साल में इंसेफेलाइटिस सदा के लिए समाप्त हो जाएगा। मुख्यमंत्री जी ने लोगों को संचारी रोग नियंत्रण अभियान,टीबी व फाइलेरिया मुक्ति अभियान से भी जुड़ने की अपील की। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सदैव कहते हैं कि बचाव ही बीमारियों से दूर रहने का सर्वोत्तम उपाय है यदि बीमारी हो भी गई तो उसे छुपाने की बजाय समय पर इलाज कराने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि 2030 तक दुनिया को टीबी मुक्त करने का लक्ष्य रखा गया है जबकि प्रधानमंत्री जी ने इसके लिए 2025 का ही लक्ष्य निर्धारित किया है। जनसामान्य टीबी मरीजों की पहचान और उनके इलाज में अपना योगदान दे। टीबी मरीजों को सरकार की तरफ से प्रति माह 500 रुपया पोषण भत्ता भी दिया जाता है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि एक संवेदनशील सरकार कैसे कार्य करती है,कोरोना काल में उत्तर प्रदेश में सभी लोगों ने देखा है। महामारी के दौरान कोरोना वारियर्स के सेवा भाव व टीम वर्क की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में अब तक वैक्सीन की 30 करोड़ डोज उपलब्ध कराई जा चुकी है। फ्री जांच,इलाज व वैक्सीन के साथ डबल इंजन की सरकार ने हर जरूरतमंद को हर माह राशन का डबल डोज भी दिया। ये सभी कार्य निरंतर आगे बढ़ रहे हैं।
इस अवसर पर कैंपियरगंज विधायक फतेह बहादुर सिंह, पिपराइच विधायक महेंद्र पाल सिंह,सहजनवा विधायक प्रदीप शुक्ला,भाजपा के क्षेत्रीय अध्यक्ष डॉ धर्मेंद्र सिंह जंगल कौड़िया के लोकप्रिय ब्लाक प्रमुख बृजेश यादव,सहित जिलाधिकारी विजय किरन आनन्द,एसएसपी डॉ.विपिन ताड़ा सीडीओ इंद्रजीत सिंह सीएमओ गोरखपुर डॉ आशुतोष कुमार दुबे,वीडियो जंगल कौड़िया कविता अवस्थी,डॉ मनीष चौरसिया हिंदू युवा वाहिनी जिला अध्यक्ष विजय शंकर यादव,रमाकांत निषाद,पूर्व ब्लाक प्रमुख गोरख सिंह,दिनेश सिंह मनोज सिंह रामअचल निषाद महेंद्र मिश्रा मकसूदन मिश्रा मृत्युंजय सिंह अवधेश मिश्रा डिस्को तिवारी बलवीर यादव,शेष मणि त्रिपाठी, चेयरमैन पीपीगंज गंगा जायसवाल,सुरेंद्र सिंह,चंद्र प्रकाश दुबे, शैलेश यादव,मनोनीत सभासद कमलेश वर्मा रामानंद दाढ़ी वाले,दिनेश यादव,अरविंद अग्रहरि सनी जसवाल आनंद भारती गणेश मद्धेशिया मोहम्मद जावेद मोहम्मद,सहित विभिन्न अधिकारी गण मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright ©2021 All rights reserved | For Website Designing and Development call Us:+91 8920664806
error: Content is protected !!