नमस्कार हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 9695646163 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें.
February 7, 2023

Raftaar India news

No.1 news portal of India

मा.वित्त राज्य मंत्री राजस्व आसूचना निदेशालय दिवस समारोह में हुए शामिल-

1 min read

रफ़्तार इंडिया न्यूज़-
माननीय वित्त राज्य मंत्री राजस्व आसूचना निदेशालय दिवस समारोह में हुए शामिल-

महाराजगंज-केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने कल दिनांक 05.12.2022 को राजस्व आसूचना निदेशालय के 65वें स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित समारोह में भाग लिया-


View Candidate Admit Card (2)

इस समारोह की अध्यक्षता माननीया केंद्रीय वित्त एवं कॉर्पोरेट अफेयर्स मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारामन ने की।
इस अवसर पर माननीय वित्त राज्य मंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि मैं आभारी हूं कि आज मुझे राजस्व आसूचना निदेशालय के 65वें स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित इस समारोह में अपनी बात रखने का अवसर दिया गया है । 1957 में डी.आर.आई.की स्थापना के समय भारतीय अर्थव्यवस्था का आकार छोटा तथा प्रकृति नियंत्रित रही थी। चुनौतियां तब भी थीं एवं चुनौतियां अब भी हैं-

तब से वर्तमान समय तक की लंबी अवधि में न सिर्फ अर्थव्यवस्था के आकार में विस्तार हुआ है बल्कि इसकी प्रकृति एवं संरचना की जटिलता में भी अत्यधिक वृद्धि हुई है ।इन सबके बावजूद तत्कालीन समय से वर्तमान समय तक डी.आर.आई.ने अपनी एक अलग पहचान बनाई है । उन्होंने कहाकि मुझे यह जानकर अत्यन्त प्रसन्नता हुई कि राजस्व आसूचना निदेशालय अपने एक पूर्व अधिकारी को उनके योगदान के सम्मान में उत्कृष्ट सेवा सम्मान से सम्मानित कर रहा है ।इसके अतिरिक्त दो अन्य अधिकारियों को वीरता पुरस्कार भी दिए जा रहे हैं ।इस प्रशंसनीय उपलब्धि को प्राप्त करने के लिए मैं सभी अधिकारियों को बधाई देता हूं ।गत कुछ माहों में डी.आर.आई.द्वारा नशीले पदार्थों की बड़ी जब्ती की गई जिसमें कांडला में लगभग 205 किलोग्राम हेरोइन की जब्ती,पिपावाव में लगभग 400 किलोग्राम हेरोइन की जब्ती तथा अक्टूबर में 50 किलोग्राम कोकीन की जब्ती के बड़े कार्यों को अंजाम दिया गया ।एक तरफ यह गर्व का विषय है कि डी.आर.आई.ने पेशेवर तरीके से इन कार्यों को अंजाम दिया । वहीं,दूसरी तरफ यह चिंता का विषय भी है कि देश के सामने खड़ी चुनौतियां कितनी गंभीर हैं? यह भी सत्य है कि भारतीय अर्थव्यवस्था हमारी माननीया वित्त मंत्री के निर्देशन में लगातार प्रगति कर रही है ।इसलिए,जाहिर सी बात है कि चुनौतियां अभी और बढ़ेंगी ।

गत दिनों की जब्ती यह बताने के लिए पर्याप्त है कि आप लोगों की सतर्कता के बावजूद देश में ड्रग्स की तस्करी के मामलों में बढ़ोत्तरी हुई है ।हम सभी जानते हैं कि ड्रग्स का अधिकाधिक सेवन युवा ही करते हैं ।इस प्रकार ड्रग्स हमारे युवाओं अर्थात हमारे देश के भविष्य को खोखला बना रहा है । इसलिए ड्रग्स पर हमें“ज़ीरो टॉलरेंस”की नीति अपनानी है । सरदार पटेल के भारतवर्ष के भौगोलिक एकीकरण के पश्चात हमारे युगदृष्टा प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी जी ने भारतवर्ष का आर्थिक एकीकरण किया है ।
आर्थिक एकीकरण के पश्चात चुनौतियों की प्रकृति में बदलाव हुआ है ।तकनीक के घालमेल से अपराधों की जटिलता में वृद्धि हुई है ।इसलिए मुझे यह कहना होगा कि आप लोगों का कार्य थोड़ा मुश्किल हुआ है ।इसके बावजूद जिस प्रकार हमारे माननीय प्रधानमंत्री द्वारा आपको खुल कर कार्य करने की आजादी दी गई है,हमारी माननीया वित्त मंत्री महोदया द्वारा जिस प्रकार आप लोगों को समर्थन दिया गया है,मुझे दृढ़ विश्वास है कि आप लोग इन चुनौतियों का सफलतापूर्वक सामना करेंगे-मैं देश के एक छोटे से सेवक के रूप में आपको अपना संपूर्ण समर्थन एवं सहयोग जारी रखूंगा, यह मेरी प्रतिज्ञा है । केंद्रीय मंत्री ने कहा की मुझे यह भी बताया गया कि डी.आर.आई.लगभग आठ सौ अधिकारियों का एक छोटा सा समूह है-

यहां मैं याद दिलाना चाहूंगा कि हमारी धरती पर ऐसे वीर योद्धा हुए हैं जो एक अकेले ही 100 के बराबर होते थे और युद्ध में उनकी गिनती नहीं बल्कि उनकी शक्ति मायने रखती थी । गुरु गोविन्द सिंह के इन्हीं वीरों से प्रेरणा लेकर आज मैं कहता हूं कि डी.आर.आई.आठ सौ अधिकारियों का एक छोटा समूह नहीं बल्कि आठ सौ गुणे सौ अर्थात् अस्सी हजार की पूरी फौज है.
जहां एक-एक अधिकारी सौ-सौ तस्करों और अपराधियों पर भारी है।आपकी उपलब्धियां बताती है कि आप लोग इसी तरह काम करते रहे हैं ।
मुश्किल हालातों को आप लोगों ने अच्छे तरीके से संभाला है और देश को कई विपत्तियों से बचाया है। इतिहास गवाह रहा है कि विकास के साथ आपराधिक चुनौतियों में भी वृद्धि होती है “मैं यह नहीं कहूंगा कि आप लोग चुनौतियों का सामना करें बल्कि मैं यह कहूंगा कि आप लोग आर्थिक अपराधों को रोकने की दिशा में नए-नए कीर्तिमान स्थापित करें.इस अवसर पर राजस्व सचिव,संजय मल्होत्रा,सीबीआईसी अध्यक्ष श्री विवेक जौहरी,सदस्य(अनुपालन प्रबंधन)सीबीआईसी,संजय कुमार अग्रवाल,महानिदेशक,डी. आर.आई.मोहन कुमार सिंह जी के साथ-साथ कई देशों के कस्टम्स अधिकारी भी मौजूद रहे ।
रफ़्तार इंडिया न्यूज़-यूपी-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright ©2021 All rights reserved | For Website Designing and Development call Us:+91 8920664806