नमस्कार हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 9695646163 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें.
February 7, 2023

Raftaar India news

No.1 news portal of India

बिहार सरकार के मंत्री आलोक मेहता की बड़ी कार्यवाही,घुस लेनदेनों में 9 सीओ हुए सस्पेंड-

1 min read

ब्रेकिंग न्यूज़-रफ़्तार इंडिया न्यूज़-बिहार-डेस्क-नई दिल्ली-

Patna,Beforeprint:भूमि घोटाले के एक मामले में बिहार सरकार के मंत्री आलोक मेहता से बड़ी कार्रवाई की है। उन्होंने नौ सर्किल ऑफिसरों (सीओ) को निलंबित कर दिया है। इसके साथ ही पहले से निलंबित 12 सर्किल ऑफिसरों के खिलाफ विभागीय कार्यवाही भी कर दी है। राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री आलोक कुमार मेहता ने बुधवार को विभागीय निगरानी कोषांग की समीक्षा के दौरान इस मामले में कार्रवाई की है। उच्च न्यायालय के आदेशों की अवहेलना,अवैध जमाबंदी कायम करना, अतिक्रमण हटाने में लापरवाही बरतने और बिहार लोक शिकायत निवारण अधिकार अधिनियम से संबंधित वादों में पारित आदेशों के अनुपालन में दिलचस्पी नहीं लेने के कारण नौ सीओ के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई कर दी।

बड़ी कार्यवाही होने वाले मगरमच्छ पुलिसअधिकारियो के नाम-

आलोक मेहता ने जिन सीओ को निलंबित किया है। उसमें सुनील कुमार वर्मा (बिहारशरीफ),विजय कुमार (दाउदनगर),चंदन कुमार (फुलवारीशरीफ),अमित कुमार(ओबरा),उज्जवल कुमार चौबे,(कुचायकोट),कुमार कुंदन लाल (गड़हनी),विनोद कुमार चौधरी (खिजरसराय), दिनेश कुमार(काको) एवं सुरेजश्वर श्रीवास्तव (करगहर) का नाम शामिल है। इनमें विनोद कुमार चौधरी और दिनेश कुमार को विजिलेंस की टीम ने रंगे हाथ घूस लेते दबोचा था। अन्य सीओ का निलंबन संबंधित जिलाधिकारी की अनुशंसा पर हुआ।

इसके साथ ही पहले से निलंबित चल रहे 12 सीओ के खिलाफ विभागीय कार्रवाई भी शुरू कर दी गई है। इसमें भागलपुर के रंगराचौक के तत्कालीन अंचल अधिकारी, शेखपुरा में बरबीघा के तत्कालीन अंचल अधिकारी,औरंगाबाद जिला में दाउदनगर के तत्कालीन अंचल अधिकारी,ओबरा के मौजूदा अंचल अधिकारी,पटना में धनरुआ के तत्कालीन अंचल अधिकारी,नालंदा में हिलसा के अंचल अधिकारी,आरा सदर के तत्कालीन अंचल अधिकारी,सिवान जिला में पचरूखी के तत्कालीन अंचल अधिकारी,चंपारण में बैरिया के तत्कालीन अंचल अधिकारी और अररिया के तत्कालीन सहायक बंदोवस्त पदाधिकारी शामिल हैं।

इस मामले पर मंत्री आलोक मेहता ने कहा कि हमारा विभाग आम लोगों से सीधा जुड़ा हुआ है। इसलिए बिहार की जनता को किसी तरह की कोई कठनाई न हो। साथ ही सिटिजन चार्टर के तहत उनका काम तय समय-सीमा में हो,इसको लेकर हम लगातार काम कर रहे हैं। इसमें गड़बड़ी करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई भी की जा रही है।
रफ़्तार इंडिया न्यूज़-डेस्क-समाचार-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright ©2021 All rights reserved | For Website Designing and Development call Us:+91 8920664806