नमस्कार हमारे न्यूज पोर्टल - मे आपका स्वागत हैं ,यहाँ आपको हमेसा ताजा खबरों से रूबरू कराया जाएगा , खबर ओर विज्ञापन के लिए संपर्क करे +91 9695646163 ,हमारे यूट्यूब चैनल को सबस्क्राइब करें, साथ मे हमारे फेसबुक को लाइक जरूर करें.
September 30, 2022

Raftaar India news

No.1 news portal of India

डॉक्टर के साथ महिला मित्र डॉ.को टहलते देख पुलिसकर्मियों ने की अभद्रता-हुए सस्पेंड-

1 min read

रफ़्तार इंडिया न्यूज़-लखनऊ-
उत्तर-प्रदेश-
केजीएमयू कैंपस में महिला मित्र संग टहल रहे डॉक्‍टर से बदसलूकी,दारोगा सस्‍पेंड-2 सिपाही लाइन हाजिर
केजीएमयू कैंपस में महिला मित्र संग टहल रहे डॉक्‍टर से बदसलूकी,दारोगा सस्‍पेंड-2 सिपाही लाइन हाजिर-


Last Modified: Thu,22Apr 2022 10:15 AM

केजीएमयू परिसर में सोमवार को चौक कोतवाली के सब इंस्पेक्टर व दो सिपाहियों ने जूनियर डॉक्टर और उनकी महिला मित्र को टहलता देखकर अपशब्द कहे। उनके साथ अभद्र व्यवहार किया। पुलिसकर्मियों ने डॉक्टर को धमकाया और फर्जी मुकदमे में फंसाने की बात कहकर रुपये वसूलने की कोशिश की।

रफ्तार इंडीएन्यूज़ न्यूज़-लखनऊ-
जूनियर डॉक्टर की सूचना पर वहां कई मेडिकल छात्र पहुंच गये थे। छात्रों को एकजुट होता देखकर पुलिसकर्मी वहां से भाग निकलेे। केजीएमयू प्रशासन से इसकी जानकारी मिलने पर पुलिस अफसरों ने जांच की तो पुलिसकर्मी दोषी मिले। इसके बाद ही एसीपी चौक आईपी सिंह की रिपोर्ट पर बुधवार रात आरोपित सब इंस्पेक्टर अशोक कुमार को निलम्बित कर दिया गया जबकि सिपाही चंदन व रमन को लाइन हाजिर कर दिया गया। पीड़ित ने इस मामले में एफआईआर नहीं दर्ज करायी है।

एसीपी चौक आईपी सिंह के मुताबिक सोमवार रात डॉक्टर अपनी परिचित महिला के साथ परिसर में टहल रहे थे। इसी दौरान दरोगा अशोक,सिपाही रमन व चंदन के साथ वहां पहुंचे थे। रात में महिला और डॉक्टर को घूमते देख तीनों पुलिसकर्मियों ने अपशब्द कहे। डॉक्टर ने आपत्ति जतायी पर दरोगा अशोक और सिपाही कुछ सुनने को तैयार नहीं थे। डॉक्टर ने मोबाइल फोन से साथियों को घटना की जानकारी दी थी। मेडिकल छात्रों को वहां आता देख पुलिसकर्मी घबराकर भाग निकले थे।

रुपये दो नहीं तो फ़र्ज़ी मुक़दमा दर्ज कर जेल भेज दूंगा-
आरोप लगाया गया है कि केजीएमयू में गश्त के बहाने महिला और डॉक्टर से अभद्रता करने वाला दरोगा अशोक, सिपाही चंदन और रमन रुपये वसूलना चाहते थे। उन्होंने डॉक्टर को फोन भी छीन लिया था। इतना ही नहीं दरोगा ने डॉक्टर से रुपये भी मांगे थे। पुलिसकर्मियों ने कहा था कि अगर रुपये नहीं दिए तो किसी भी मुकदमे में फंसा कर जेल भेज दिया जायेगा। इससे तुम्हारा पूरा कैरियर खतरे में पड़ जाएगा। एसीपी के मुताबिक पुलिस कर्मियों पर लगे गम्भीर आरोपों के बारे में छानबीन कराई गई थी। मामला सही पाए जाने पर इस आधार पर ही तीनों के खिलाफ कार्रवाई की संस्तुति की गई थी। इसके बाद पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने कार्रवाई कर दी।
रफ्तार इंडिया न्यूज़-लखनऊ-

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright ©2021 All rights reserved | For Website Designing and Development call Us:+91 8920664806